पंचायत का कारनामा : पुरानी मोटर डालकर नई मोटर का निकाला बिल। नलजल योजना ठप्प, कामठी में हो रहे भ्रष्टाचार की कब होगी जांच

Rate this post
पंचायत का कारनामा : पुरानी मोटर डालकर नई मोटर का निकाला बिल। नलजल योजना ठप्प, कामठी में हो रहे भ्रष्टाचार की कब होगी जांच

आप एक किसान है तो ये न्यूज़ आपके लिए फायदेमंद साबित होगी…- लोकेश गीदकर बने किसानो के मसीहा, किसानों के लिए जुताई व बुवाई होगी पूरी तरह निशुल्क

Chhindwara, 23 मार्च, मोहखेड़ विकास खंड के अन्तर्गत ग्राम पंचायत कामठी में नल जल योजना के नाम से किस तरह भ्रष्टाचार किया जा रहा है , यह देखा जा सकता है ,

ये भी पढ़िए ….सड़क हादसा : मालेगांव के पास देर रात कंटेनर में जा घुसी कार, बुरी तरह घायल हुआ चालक।

पंचायत के पदाधिकारी बिना ग्राम पंचायत की बैठक लिए बिना टी एस कराये 1,35,700 रुपए खर्च कर नई मोटर खरीद लेते हैं और फिर वही मोटर खरीदी के बाद लगातार जल जाती है तब मामला उजागर होता है कि पुरानी मोटर डालकर नई मोटर का बिल लगाकर राशि निकाल ली गई और वहीं मोटर 4 बार खराब हो गई जबकि नयी मोटर जब खरीदी जाती है तो उसकी ग्रांरटी रहती है फिर ये मोटर कैसे खराब हो गई। बिना पंचायत सदस्यों की बैठक लेकर बिना टी एस कराये नल जल योजना की मोटर केसे खरीदी गई।

ये भी पढ़िए …Sariya Cement Rate Today ख्वाबों का महल बनाना हुआ और भी आसान , सरिया और सीमेंट के दामों में आई भारी गिरावट जानिए आज के ताजा रेट 

पुरानी मोटर डालकर नई मोटर का बिल निकलकर पंचायत को 135700 रुपये का चूना लगाया गया। जिसकी शिकायत सीएम हेल्पलाइन में की गई है । ग्राम पंचायत कामठी के पंचों ने बताया कि बिना बैठक लिय मोटर का बिल गया है और जब मोटर देखा गया तो वह मोटर पुरानी है, जिसकी शिकायत जिला पंचायत सीईओ को की गई।

ये भी पढ़िए ….बड़ी खबर : हनुमान डोल के पास मिली सर कटी लाश की तीन माह बाद हुई शिनाख्त, पति और बेटा ही निकला हत्यारा।

सवाल यह उठता है कि क्या सचीव द्वारा बिना टीएस के इतनी बड़ी रकम निकाला जा सकता है क्या बिना पंचायत के प्रस्ताव के बिना कोई भी चीज खरिदी जा सकती है। अब देखना है कि क्या जनपद पंचायत में बैठे अधिकारी उक्त मामले में कार्रवाई करते हैं या फिर मामले को दबा देते हैं या फिर सीएम हेल्पलाइन में की गई शिकायत के आधार पर कार्यवाही होती है।

Breaking news अपहरण दुष्कर्म के बाद महिला की हत्या शव को सरसों के खेत में दबाया 36 दिन बाद फोन ने खोला राज

यह हाल मात्र कामठी पंचायत का नही है इसी तरह अंधेर नगरी चौपट राजा वाला खेल पूरे जिले भर में चल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button